भरपूर एक्शन, इमोशन, मैसेज

Posted By: Ajay Rawat Posted On: Sep 07, 2023
शाहरुख खान

Jawan Review: भरपूर एक्शन और इमोशन के साथ एक मैसेज, जिसमें इतना स्वैग शाहरुख ही ला सकते हैं!

शाहरुख खान 'जवान' में वो सब डिलीवर करते हैं, जिसका वादा टीजर के समय से किया जा रहा था. फ़िल्म में एक्शन, इमोशन, हीरो के एलिवेशन वाले सॉलिड मोमेंट्स सबकुछ भरपूर हैं. फ़िल्म का मैसेज बहुत इम्पोर्टेन्ट है और शाहरुख इसे पूरे स्वैग में डिलीवर करते हैं.

शाहरुख खान के कई शानदार लुक्स, रॉ एक्शन, सॉलिड स्टारकास्ट और पर्दाफाड़ स्वैग की बौछार… 'जवान' के ट्रेलर में वो सबकुछ था जो एक पक्के इंडियन सिनेमा फैन को थिएटर जाने के लिए एक्साइटमेन्ट से भर देता है. और लंबे इंतजार के बाद फाइनली थिएटर में जाने के बाद फील होता है कि शाहरुख और डायरेक्टर एटली की जोड़ी ने जितना दिखाया था, उससे भी ज्यादा डिलीवर किया है.

'जवान' में शाहरुख के किलर लुक्स, स्क्रीन पर आग लगा देने वाले एक्शन सीन्स और इमोशंस तो हैं ही. लेकिन फिल्म की कहानी में कई ऐसी चीजें हैं जो एक दर्शक ही नहीं, इस देश के एक नागरिक के तौर पर आपको अपील करेंगे. पहले 45 मिनट में ही 'जवान' की स्क्रिप्ट में इतनी कहानी है, जो कई बार मसाला फिल्मों में पूरे तीन घंटे खर्च करने के बाद भी नहीं मिलती.

'जवान' की कहानी फिल्म की कहानी एक ट्रेन हाईजैक से शुरू होती है. हाईजैक करने वाले (बाल्ड लुक वाले शाहरुख) ने ट्रेन के 376 यात्रियों के बदले कृषि मंत्री से बात करने की डिमांड रखी है. वो कृषि मंत्री से एक अमाउंट मांगता है, जिसे 5 मिनट के अंदर अरेंज कर पाना सरकार के लिए भी पॉसिबल नहीं है! लेकिन हाईजैक हुई मेट्रो ट्रेन में एक बहुत बड़े "बिजनेस मैन" काली (विजय सेतुपति) की बेटी भी है. ट्रेन हाइजैक करने वाले की सलाह है कि जब सरकार बिजनेसमैन के कर्ज माफ कर सकती है, तो ट्रेन में फंसी जनता की जान बचाने के लिए भी उनसे मदद ले सकती है. ये पूरा एपिसोड खत्म होता है तो फिरौती में मिली रकम से 7 लाख किसानों के कर्ज माफ हो चुके होते हैं. ट्रेन हाईजैक करने में उस आदमी के साथ एक गर्ल गैंग भी है. उन सबकी अपनी कहानियां हैं.

कानून की नजरों में अपराधी बन चुका ये शख्स, जनता की नजर में हीरो बन जाता है. एक मॉडर्न रॉबिनहुड, जो बिजनेसमैन से पैसे लूटकर जनता की मदद कर रहा है. लेकिन क्या इस आदमी का ये एक्ट, जितना दिख रहा है उतना ही है? क्या इसके पीछे कोई और असल मकसद है?

ट्रेन हाईजैकिंग को रोकने का जिम्मा एक स्पेशल फोर्स को दिया गया है, जिसे ऑफिसर नर्मदा राय (नयनतारा) लीड कर रही हैं. नर्मदा एक सिंगल मदर हैं, लेकिन वो अपनी बेटी के लिए शादी करना चाहती हैं. उनकी लाइफ में एक महिला जेल के वार्डन आज़ाद (शाहरुख) की एंट्री होती है. लेकिन आज़ाद की कहानी में कुछ राज हैं. क्या ट्रेन हाईजैक करने वाले से आज़ाद का कुछ कनेक्शन है?

ट्रेन हाइजैक करने वाले ने बिजनेसमैन की बेटी के कान में अपना नाम बताया था. आखिर इस नाम की कहानी क्या है? और ये नाम सुनकर काली क्यों हिल गया था? ट्रेलर में दीपिका पादुकोण का स्पेशल अपीयरेंस भी था. उनकी क्या कहानी है? फिल्म इन सारे सवालों के जवाब पर्दे पर देती है.

'जवान' का मैसेज फिल्म में कई सब-प्लॉट हैं जो मिलकर पूरी कहानी बनाते हैं. इन छोटे-छोटे हिस्सों में कई ऐसी चीजें हैं जो आपको अखबारों में मिलती हैं. कर्ज में डूबे किसानों की आत्महत्या, लोगों की हेल्थ से खिलवाड़, जिंदगियों और पर्यावरण को जहरीला बनाती इंडस्ट्रीज को बेधड़क काम करने की इजाजत. फिल्म की कहानी भ्रष्टाचार के उस लेवल को भी दिखाती है जहां खराब हथियार लिए सेना के जवान दुश्मनों के सामने अपनी जान निरीह तरीके से गंवाते हैं. नर्मदा के साथ-साथ बाकी महिला किरदारों की कहानियां उन्हें मजबूर दिखाने की बजाय, उन्हें बहुत मजबूत बनाती हैं.

एक्शन और एलिवेशन शाहरुख के किरदारों को एटली ने अपने ट्रेडमार्क स्टाइल में स्क्रीन पर बहुत ग्रैंड प्रेजेंस दी है. अनिरुद्ध रविचंदर के जानदार म्यूजिक के साथ इन किरदारों को वो एलिवेशन मिलता है जो हीरो को रियलिटी से ही नहीं, सिनेमा स्क्रीन से भी बड़ा बना देता है.

शाहरुख के एक्शन सीन पूरी फिल्म में शुरू से अंत तक हर थोड़ी-थोड़ी देर में आपको मिलते रहते हैं. फ़िल्म की शुरुआत में ही 10 मिनट का एक सीक्वेंस है, जिसमें कहानी का हीरो ऐसे ट्रीट किया गया है जैसे वो एक सुपरहीरो है. जबकि एक्शन करते हुए वो अपने फाइटर वाले स्किल्स जिस तरह डिस्प्ले करता है, वो उसे सुपरह्यूमन बनाते हैं. हर फाइट सीन, हर एक्शन ब्लॉक एक पक्के एक्शन लवर दर्शक के लिए ट्रीट है.

कहानी का ट्रीटमेंट और छोटी-मोटी दिक्कतें 'जवान' 2 घंटे 45 मिनट लंबी फ़िल्म है. लेकिन इस लंबे रन टाइम के बावजूद कहीं भी ऐसा नहीं लगता कि कुछ बेमतलब है. लेकिन कहानी में ढेर सारे मजेदार एलिमेंट्स को फिट करने में कहीं कहीं ऐसा लगता है कि फिल्म बहुत तेजी से आगे-पीछे भाग रही है. इसलिए जब आज़ाद के बचपन की कहानी में एक सीन पर फ़िल्म रुकती है तो आप इमोशंस को महसूस कर पाते हैं. इस सीक्वेंस के अंत में दर्शक खुद भी इमोशनल हो सकते हैं.

लेकिन ये ठहराव सिर्फ इस एक सीक्वेंस में ही ज्यादा अच्छे से निकल के आता है. किसान की आत्महत्या वाले सीक्वेंस या हॉस्पिटल में ऑक्सिजन की कमी से जूझते बच्चे और उनके लिए लड़ते डॉक्टर्स के सीक्वेंस में थोड़े ठहराव की जरूरत थी. लेकिन शायद फिल्म का लंबा होता रनटाइम एडिटर में दिमाग पर भी टिक-टिक कर रहा था. 'जवान' का क्लाइमेक्स थोड़ा और बेहतर हो सकता था. अभी इसमें एक्शन और स्वैग तो है. लेकिन किरदारों के बैकग्राउंड के हिसाब से जैसा इमोशनल फिनाले मिलना चाहिए था, 'जवान' उससे थोड़ा सा पीछे रह जाती है.

एक्टर्स की परफॉर्मेंस एटली ने 'जवान' के हीरो के लिए जो स्वैग इमेजिन किया होगा, शाहरुख उसे पूरे वजन के साथ स्क्रीन पर लेकर आए हैं. एक्शन करना हो या सिर्फ बातें, शाहरुख का काम स्वैग के मीटर पर फुल स्कोर मेंटेन किए रखता है. सबसे इंटरेस्टिंग चीज ये है कि यहां हाईलाइट सिर्फ 'सुपरस्टार' शाहरुख नहीं हैं, बल्कि 'एक्टर' शाहरुख को भी अपनी चमक दिखाने का पूरा मौका मिलता है.

स्पेशल ऑफिसर के रोल में नयनतारा से परफेक्ट शायद कोई और लग ही नहीं सकता था. इस किरदार में वो जितनी मजबूत हैं, कहानी की डिमांड पर पल भर के लिए उतनी ही वल्नरेबल भी बन जाती हैं. विजय सेतुपति एक बार फिर ये दिखाते हैं कि देश के सबसे बेहतरीन एक्टर्स की लिस्ट बनाते ही उनका नाम एकदम झट से क्यों याद आता है.

सपोर्टिंग कास्ट का काम भी 'जवान' में बहुत सॉलिड है. 'पार्च्ड' जैसी बेहतरीन फिल्म कर चुकीं लहर खान, यहां बहुत इमोशनल सब-प्लॉट में दिखती हैं. अपने छोटे से हिस्से में ही उन्होंने सॉलिड काम किया है. सान्या मल्होत्रा, प्रियामणि और रिद्धि डोगरा भी अपने किरदारों में पावरफुल हैं. सुनील ग्रोवर पर अलग से नजर जाती रहती है, हालांकि उनके किरदार को कहानी में थोड़ा सा और देखना ज्यादा मजेदार होता.

'जवान' पूरी तरह पैक्ड स्क्रिप्ट है. इसमें जितना कुछ कहने की कोशिश थी, फिल्म उसे असरदार तरीके से काफी हद तक कहने में कामयाब भी होती है. लेकिन इतने ढेर सारे एलिमेंट्स को पैक करने में फिल्म थोड़ी सी ज्यादा भरी हुई भी लगती है. हालांकि, इसमें कोई शक नहीं है कि ये शाहरुख के बेस्ट सिनेमेटिक मोमेंट्स लेकर आई है.

'जवान' अपने हीरो को जितना बड़ा हीरो दिखाती है, उसे शाहरुख के पर्दाफाड़ स्वैग शिखर पर ले जाता है. ये ऐसी फिल्म है जो खचाखच भरे थिएटर्स में, हर 10-15 मिनट बाद तालियों-सीटियों की बरसात करवाती रहेगी.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



सनी से पहले खुद ही अपना रिकॉर्ड तोड़ डालेंगे शाहरुख

Posted By: Anita Mamgai Posted On: Sep 24, 2023
शाहरुख खान, सनी देओल

सनी देओल से पहले खुद ही अपना रिकॉर्ड तोड़ डालेंगे शाहरुख खान? हिंदी वर्जन में 500 करोड़ पार करने चली 'जवान'!

इस साल बॉलीवुड से तीन सॉलिड ब्लॉकबस्टर फिल्में निकली हैं. इन तीनों के बीच का होड़ बड़ी दिलचस्प है. जहां शाहरुख खान की पहली ब्लॉकबस्टर 'पठान' को सनी देओल की 'गदर 2' चेज कर रही थी. वहीं अब खुद 'गदर 2' के पीछे शाहरुख की दूसरी ब्लॉकबस्टर 'जवान' पहुंच गई है. बॉलीवुड की इन तीनों फिल्मों का कॉम्पिटीशन बहुत मजेदार है.

उदास शाम की तरह बीते दो सालों के बाद, आखिरकार बॉलीवुड का सूरज फिर से खूब चमक रहा है. इस साल इंडस्ट्री ने जिस तरह हिट फिल्मों की लाइन लगाई है, वो बताता है कि फिल्म इंडस्ट्री अब न सिर्फ वापस पटरी पर लौट आई है, बल्कि पहले से भी ज्यादा रफ्तार से दौड़ रही है. 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी', 'तू झूठी मैं मक्कार' और 'OMG 2' जैसी सॉलिड हिट्स ने तो थिएटर्स में खूब माहौल जमाया ही. लेकिन इंडस्ट्री का झंडा बुलंद करने का काम तीन बहुत बड़ी ब्लॉकबस्टर फिल्मों ने किया है.

साल की शुरुआत में बॉलीवुड को अपनी सबसे कमाऊ फिल्म 'पठान' मिली. सुपरस्टार शाहरुख खान स्टारर इस फिल्म ने पहली बार इंडस्ट्री के लिए 500 करोड़ का आंकड़ा पार किया. शाहरुख की इस ग्रैंड सक्सेस की कामयाबी से फैन्स और इंडस्ट्री में जबरदस्त खुशी थी. लेकिन 7 महीने बाद एक और बड़ा धमाका हुआ और सनी देओल की 'गदर 2' ने भी 500 करोड़ का पहाड़ हंसते-खेलते चढ़ डाला.

शाहरुख-सनी देओल की रेस फिलहाल, 'गदर 2' बॉक्स ऑफिस पर 'पठान' की कमाई पीछे करने की तरफ बढ़ रही है. शाहरुख की फिल्म ने भारत में 543 करोड़ रुपये का नेट कलेक्शन किया था. इसे हिंदी वर्जन से 524.53 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाई हुई. 522 करोड़ रुपये के साथ 'गदर 2' इसके बहुत करीब पहुंच चुकी है. मगर शाहरुख खान इस साल अलग ही लेवल का खेल कर रहे हैं. उनकी लेटेस्ट रिलीज 'जवान' थिएटर्स में बवाल मचा रही है. और अब ऐसा लग रहा है कि सनी देओल की 'गदर 2', हिंदी में सबसे कमाऊ फिल्म बनने का जो रिकॉर्ड बनाना चाह रही है. उसे खुद शाहरुख की ही दूसरी फिल्म पहले तोड़ डालेगी.

500 करोड़ कमाने चली 'जवान' 17 दिन से थिएटर्स में चल रही 'जवान' की कमाई के आंकड़े ऐसे हैं, जहां तक पहुंचने की उम्मीद भी पहले इंडस्ट्री को नहीं होती थी. 17वें दिन भी शाहरुख की लेटेस्ट फिल्म ने जमकर कमाई की. ट्रेड रिपोर्ट्स बताती हैं कि शुक्रवार को 7 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाने वाली 'जवान' ने शनिवार को फिर से बॉक्स ऑफिस पर तगड़ा जंप लिया. शनिवार को फिल्म का कलेक्शन 12-13 करोड़ रुपये की रेंज में हुआ है. इसके साथ अब फिल्म ने भारत में करीब 546 करोड़ रुपये का कलेक्शन कर लिया है.

'जवान' की इस तगड़ी कमाई में हिंदी वर्जन से अबतक करीब 492 करोड़ रुपये का कलेक्शन हुआ है. शनिवार को, थिएटर्स में अपने 18वें दिन, 'जवान' का हिंदी वर्जन 500 करोड़ पार पहुंच जाएगा. अनुमान कहता है कि रविवार के बाद 'जवान' का हिंदी वर्जन 505 करोड़ रुपये के करीब कमाई कर चुका होगा.

'गदर 2' से पहले 'पठान' को पीछे छोड़ेगी 'जवान'? शाहरुख का मुकाबला इस साल अपने आप से ही चल रहा है. 'पठान' के हिंदी कलेक्शन 524 करोड़ तक सनी की फिल्म से पहले, खुद शाहरुख की ही फिल्म 'जवान' पहुंच सकती है. 'गदर 2' ने गुरुवार तक 522 करोड़ रुपये का कलेक्शन कर लिया था. सातवें हफ्ते में चल रही 'गदर 2' के अब थिएटर्स में बहुत कम ही शोज बचे हैं और फिल्म की कमाई बहुत लिमिटेड होने लगी है. शुक्रवार-शनिवार मिलाकर फिल्म की कमाई करीब 80 लाख रुपये होने का अनुमान है. रविवार को 'गदर 2' 523 करोड़ तक तो पहुंच जाएगी, लेकिन फिर सोमवार से कामकाजी हफ्ता शुरू हो जाएगा.

पिछले हफ्ते सोमवार से गुरुवार तक, 5 दिन में सनी की फिल्म ने 2 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया. जो इस हफ्ते के 5 वर्किंग डेज में और कम हो जाएगा. 'गदर 2' को 'पठान' को पीछे छोड़ने के लिए करीब 1.5 करोड़ रुपये कमाने हैं, जो गुरुवार तक हो पाना थोड़ा मुश्किल नजर आ रहा है. हालांकि, रविवार तक हिंदी में 505 करोड़ रुपये कमा चुकी 'जवान', 'पठान' से करीब 19.5 करोड़ रुपये पीछे रह जाएगी. लेकिन 'जवान' जिस तरह कमा रही है, इतना कलेक्शन वो गुरुवार तक आराम से कर सकती है. यानी पूरा चांस है कि 'गदर 2' से पहले 'पठान' को, शाहरुख की ही फिल्म 'जवान' पीछे छोड़ देगी.

इस साल बॉलीवुड को 500 करोड़ कमाने वाली तीन फिल्में मिलना तो एक्साइटिंग है ही. लेकिन उससे भी मजेदार है शाहरुख को बॉक्स ऑफिस पर इस तरह की तूफानी कामयाबी के साथ देखना. हालांकि, इस बात में कोई शक नहीं है कि सनी देओल की 'गदर 2' ने भी अद्भुत कमाई की थी.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



साउथ में हिंदी फ‍िल्मों का सेंसेक्स

Posted By: Ajay Rawat Posted On: Sep 19, 2023
साउथ में हिंदी फिल्मों का सेंसेक्स

साउथ में हिंदी फिल्मों का सेंसेक्स, कितना मुनाफा, कितना नुकसान? ये है पूरा सच

शाहरुख खान की 'जवान' थिएटर्स में शानदार कमाई कर रही है. हिंदी के साथ-साथ 'जवान' तमिल और तेलुगू में भी रिलीज हुई है. फिल्म के तमिल-तेलुगू वर्जन की कमाई को, हिंदी वर्जन के कलेक्शन के सामने रखकर ये बहस चल पड़ी है कि साउथ में हिंदी फिल्में कम देखी जा रही हैं. लेकिन क्या ऐसा है? आइए बताते हैं.

थिएटर्स में शाहरुख खान की नई फिल्म 'जवान' ताबड़तोड़ कमाई कर रही है. फिल्म का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 700 करोड़ का आंकड़ा पार करने वाला है. जबकि भारत में फिल्म का नेट कलेक्शन शुक्रवार को 400 करोड़ रुपये से ज्यादा पहुंचने वाला है. 'जवान' एक पैन इंडिया रिलीज है और इसे हिंदी के साथ-साथ तमिल और तेलुगू डबिंग में भी रिलीज किया गया है.

गुरुवार तक, थिएटर्स में बिताए अपने 8 दिनों में 'जवान' ने अधिकतर कमाई हिंदी वर्जन से की है. 8 दिन में फिल्म के हिंदी वर्जन ने भारत में 348 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया है और तमिल-तेलुगू वर्जन से फिल्म ने 42 करोड़ रुपये कमाए हैं. हिंदी वर्जन के मुकाबले, बाकी दोनों वर्जन से फिल्म की कमाई का आंकड़ा काफी छोटा नजर आता है. और इसी आधार पर सोशल मीडिया पर एक नई बहस छिड़ गई है. बहस का मुद्दा ये है कि साउथ के दर्शक बॉलीवुड फिल्में देखना नहीं पसंद करते. जबकि उत्तर भारत में, साउथ की इंडस्ट्रीज में बनी फिल्मों को जनता ने बहुत प्यार दिया है.

इस बात पर जोर देने के लिए 'बाहुबली 2' 'KGF 2' और 'पुष्पा' जैसी फिल्मों के हिंदी वर्जन की कमाई को सामने रखा जा रहा है. आइए आपको बताते हैं कि इस बहस में कितना दम है और क्या सच में साउथ के दर्शक, हिंदी फिल्में देखना कम पसंद कर रहे हैं?

कमाई को देखने का गड़बड़ लॉजिक इस पूरी बहस में सबसे बड़ी गलती ये है कि हिंदी फिल्मों के तेलुगू-तमिल डबिंग वाले वर्जन की कमाई देखी जा रही है. ये अपने आप में भाषाओं को लेकर पूर्वाग्रह रखने वाले आईडिया पर बेस्ड कैलकुलेशन है. हिंदी सिर्फ उत्तर भारत ही नहीं, पूरे देश में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है. साउथ के राज्यों में जनता की प्राइमरी भाषा भले तेलुगू, तमिल, मलयालम या कन्नड़ हो, लेकिन काम चलाने भर हिंदी भी बहुत लोग समझते हैं.

जबकि इसकी तुलना में एक उत्तर भारतीय दर्शक को साउथ की चारों बड़ी भाषाओं में से एक आने का चांस थोड़ा कम रहता है. साउथ के मेकर्स के लिए गणित सीधा है, हिंदी समझने वाले ज्यादा हैं, तो फिल्म को हिंदी में डब करके साउथ के बाहर रिलीज करने पर ऑडियंस ज्यादा मिलेगी. लेकिन बॉलीवुड फिल्में जब साउथ में रिलीज होती हैं तो हिंदी में ही ठीकठाक ऑडियंस मिल जाती है. डबिंग तो इस ऑडियंस तक पहुंच बढ़ाने की कोशिश है.

बॉलीवुड में बनी फिल्मों को साउथ में भी हिंदी वर्जन में ही ज्यादा स्क्रीन्स मिलती हैं. इसलिए फिल्मों की कमाई को देखने का सबसे सही तरीका डबिंग वर्जन के कलेक्शन देखना नहीं, बल्कि मार्किट के हिसाब से कलेक्शन देखना है. आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल में बॉलीवुड फिल्मों का हिंदी कलेक्शन देखना ही सही तस्वीर पेश करता है.

तमिल-तेलुगू नहीं, हिंदी में बॉलीवुड फिल्में देखता साउथ 'जवान' जैसी तीन भाषाओं वाली रिलीज को साइड रखकर देखें तो, बिना तमिल-तेलुगू डबिंग के साउथ में रिलीज हुई हिंदी फिल्मों ने भी इस साल साउथ के थिएटर्स में सॉलिड भीड़ जुटाई. 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी' जैसी फिल्म ने साउथ में सॉलिड कमाई की, जो मास सिनेमा नहीं बल्कि एक टिपिकल अर्बन बॉलीवुड स्टोरी है. कर्नाटक के बड़े हिस्से की कमाई बताने वाले, मैसूर सर्किट में इस फिल्म ने 7 करोड़ रुपये से ज्यादा कलेक्शन किया. ये कमाई हिंदी फिल्मों को सॉलिड कमाई देने वाले CP-CI सर्किट (महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्से) या राजस्थान सर्किट से ज्यादा थी.

साउथ के बड़े मार्किट मिलाकर 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी' ने 14.50 करोड़ रुपये के करीब कलेक्शन किया. ये ईस्ट पंजाब सर्किट (पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू कश्मीर, लद्दाख) से कमाए 15 करोड़ रुपये से थोड़ा ही ज्यादा था. दोनों आंकड़े लगभग बराबर हैं, लेकिन जहां ईस्ट पंजाब सर्किट ट्रेडिशनल उत्तर भारतीय मार्किट है, वहीं मैसूर सर्किट प्रॉपर साउथ मार्किट है. फिर भी हिंदी फिल्म की कमाई दोनों जगह एक जैसी है.

'गदर 2' के कलेक्शन को हिस्सों में देखकर भी कुछ ऐसे आंकड़े मिलते हैं, जो हिंदी सिनेमा की पहुंच उत्तर भारत तक समझने वालों को हैरान कर सकते हैं. निजाम-एपी सर्किट (आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक के कुछ हिस्से), मैसूर सर्किट (कर्नाटक का बड़ा हिस्सा) और तमिलनाडु-केरल सर्किट मिलाकर सनी देओल की फिल्म ने लगभग 45 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया.

ये कलेक्शन CP-CI सर्किट (मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के कुछ हिस्से) से हुई कमाई के बराबर है. पश्चिम बंगाल-बिहार और झारखंड में 'गदर 2' सिंगल स्क्रीन्स पर जमकर बवाल मचा रही थी. यहां से फिल्म ने करीब 42 करोड़ का कलेक्शन किया. जबकि फिल्म मार्किट की बेसिक समझ ये बताती है कि साउथ के सर्किट्स में 'गदर 2' को स्क्रीन्स बहुत ज्यादा नहीं मिली होंगी, क्योंकि इससे एक दिन पहले रजनीकांत की 'जेलर' तमिल-तेलुगू दोनों वर्जन में रिलीज हुई थी. अगर अब भी आपको लगता है कि साउथ में हिंदी फिल्में कम देखी जा रही हैं, तो एक और मजेदार आंकड़ा बताते हैं शहरों में फिल्म के शोज भरने का आंकड़ा यानी ऑक्यूपेंसी.

साउथ देख रहा ज्यादा फिल्में? लगभग एक बराबर शोज में, हिंदी सिनेमा की ट्रेडिशनल मार्किट रहे किसी शहर के मुकाबले, साउथ के शहरों में शो ज्यादा भरे हुए दिखते हैं. जैसे- OMG 2 ने अपना सबसे बड़ा कलेक्शन, 17.55 करोड़ रूपए तीसरे दिन, रविवार को जुटाया. इस दिन साउथ के बड़े शहर हैदराबाद में फिल्म के 126 शोज में ऑक्यूपेंसी 67% थी. जबकि हिंदी फिल्मों की मार्किट रहे लखनऊ में, 114 शोज की 57% ऑक्यूपेंसी थी. यानि शो लगभग बराबर, लेकिन हैदराबाद में ज्यादा भीड़. इसी तरह 'गदर 2', जिसे नॉर्थ इंडियन सेंटिमेंट वाली हिंदी मसाला फिल्म की तरह देखा गया, उसके शो बेंगलुरु में भी लखनऊ या कोलकाता जितने ही भरे. (डाटा- सैकनिल्क)

बेंगलुरु- 432 शो- 32%

हैदराबाद- 300 शो- 36%

चेन्नई- 64 शो- 56%

पुणे- 402 शो- 26%

सूरत- 290 शो- 15%

भोपाल- 80 शो- 44%

बेंगलुरु- 227 शो- 49%

हैदराबाद- 198 शो- 50%

चेन्नई- 69 शो- 60%

सूरत- 264 शो- 27%

जयपुर- 164 शो- 34%

भोपाल- 86 शो- 34%

बेंगलुरु- 203 शो- 84%

हैदराबाद- 218 शो- 76%

चेन्नई- 42 शो- 92%

कोलकाता- 214 शो- 81%

लखनऊ- 240 शो- 86%

भोपाल 101 शो- 86%

बेंगलुरु-179 शो- 67%

हैदराबाद- 126 शो- 69%

चेन्नई- 44 शो-89%

कोलकाता- 143 शो- 63%

लखनऊ- 114 शो- 57%

भोपाल- 50 शो- 63%

'बाहुबली' ने खोला बड़ी कमाई का रास्ता साउथ में हिंदी फिल्में कैसी कमाई कर रही हैं, ये सवाल शायद इस पॉइंट से आया है कि साउथ की कई फिल्मों ने पिछले कुछ सालों में हिंदी फिल्मों के मार्किट से तगड़ी कमाई की है. लेकिन ये दोनों चीजें बिल्कुल अलग हैं. साउथ से आई पैन इंडिया फिल्मों का भौकाल जमना 2015 से शुरू हुआ. एसएस राजामौली की एपिक फिल्म 'बाहुबली' का पहला पार्ट इस साल रिलीज हुआ.

राजामौली की फिल्म का हिंदी वर्जन डिस्ट्रीब्यूट किया करण जौहर की कंपनी ने. इसका फायदा ये हुआ कि 'बाहुबली' के हिंदी वर्जन को साउथ के मार्किट से बाहर, किसी प्रॉपर हिंदी फिल्म जैसी रिलीज मिली. भारत में कुल 511 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन करने वाली 'बाहुबली' ने करीब 33% कमाई साउथ के बाहर, उन हिस्सों से की जहां हिंदी फिल्में ज्यादा मजबूत मानी जाती हैं. 'KGF चैप्टर 1' (2018) का कलेक्शन भी इसीलिए चर्चा में था कि पहली बार कोई कन्नड़ फिल्म हिंदी में दमदार मौजूदगी दर्ज करा रही थी. इस फिल्म ने भी साउथ के राज्यों के बाहर से 25% ही कलेक्शन किया था. राजामौली की 'RRR' सीक्वल नहीं थी इसलिए नॉन साउथ मार्किट से कमाई 33% ही रही, लगभग पहली 'बाहुबली' फिल्म के बराबर.

'बाहुबली' और 'KGF' के दूसरे पार्ट को साउथ के बाहर बड़ी कमाई सीक्वल होने की वजह से भी मिली. इसलिए 'बाहुबली 2' और 'KGF 2' ने भारत में जो कमाई की उसमें साउथ के मार्केट्स और बाकी क्षेत्रों का हिस्सा बराबर था. 'पुष्पा' का कमाल इसीलिए बड़ा था क्योंकि नॉन-साउथ मार्किट से इसकी कमाई 41% रही. 'पुष्पा 2' साउथ के बाहर कैसा कलेक्शन करेगी ये अनुमान लगाना बहुत मुश्किल नहीं है. साउथ की फिल्मों की कमाई, साउथ के 5 राज्यों के बाहर धीरे-धीरे बढ़ी है. हिंदी मार्किट बड़ी है, इसलिए यहां फिल्म चलती है तो टोटल कमाई में इसका हिस्सा भी ज्यादा बड़ा नजर आता है.

बाहुबली (2015)

KGF चैप्टर 2 (2022)

राजामौली के बाद साउथ के मेकर्स ने अपनी फिल्मों से हिंदी में बड़ी कमाई के लिए माहौल बनाया है. अब जब साउथ के बड़े मेकर्स अपनी बड़ी फिल्म के लिए हिंदी के साथियों से हाथ मिलाते हैं तो इसके कई फायदे होते हैं. रिलीज कैलेंडर में उनकी फिल्मों को भी, हिंदी फिल्मों की डेट्स के साथ अलग से स्पेस मिलता है. इस स्पेस से ज्यादा स्क्रीन्स मिलती हैं और ज्यादा स्क्रीन्स से कमाई बढ़ती है. साउथ के मेकर्स ने जैसे हिंदी फिल्मों के मार्किट में पैठ बनाने की कोशिश शुरू की, वो काम बॉलीवुड ने साउथ में बहुत बाद में शुरू किया. और इसका फायदा 'जवान' की कमाई पर नजर आ रहा है.

साउथ में क्यों बड़ी है 'जवान' की कमाई शाहरुख खान की फिल्म 'जवान' का डिजाईन ऐसा है कि फिल्म साउथ में ज्यादा अपील करने वाली है. इसके डायरेक्टर एटली, तमिल ऑडियंस को बड़ी हिट्स दे चुके हैं. कास्ट में नयनतारा और विजय सेतुपति, तमिल और तेलुगू दोनों इंडस्ट्रीज में बड़े नाम हैं. ऊपर से फिल्म का मास सिनेमा होना, साउथ में इसे चलाने वाला सॉलिड फैक्टर है. इसीलिए 'जवान' ने 11 दिन में जो 574 करोड़ का ग्रॉस कलेक्शन किया है, उसमें 146 करोड़ यानी 25% साउथ के मार्केट्स से आया. साउथ में भी 'जवान' ने हिंदी वर्जन से ही ज्यादा कमाई की है. जबकि तमिल-तेलुगू डबिंग वर्जन से 'जवान' 50 करोड़ से ज्यादा नेट कलेक्शन कर चुकी है.

ब्रह्मास्त्र (2022)

इससे पहले 'ब्रह्मास्त्र' और 'पठान' ने भी साउथ की ऑडियंस को अपील करने की कोशिश की थी. आंकड़े बताते हैं कि धीरे-धीरे साउथ के मार्किट में भी हिंदी फिल्मों की कमाई का शेयर बढ़ रहा है. 'जवान' की तरह साउथ में जगह बनाने वाला डिजाईन अब रणबीर कपूर की 'एनिमल' का है. इसके डायरेक्टर संदीप रेड्डी वांगा तेलुगू इंडस्ट्री में बड़ा नाम हैं. फिल्म में रणबीर के साथ लीड रोल में रश्मिका मंदाना हैं, जो साउथ में बहुत पॉपुलर एक्ट्रेस हैं और नेशनल क्रश भी कही जाती हैं.

डाटा का हिसाब से, भारत की कुल 8700 सिनेमा स्क्रीन्स में से, लगभग आधी साउथ के ही पांच राज्यों में हैं. लेकिन इन आधी स्क्रीन्स पर देश की 4 बड़ी रीजनल फिल्म इंडस्ट्रीज (तेलुगू, तमिल, कन्नड़, मलयालम) से फिल्में हमेशा आती रहती हैं. जबकि बाकी आधी स्क्रीन्स पर एक ही इंडस्ट्री सबसे ज्यादा मजबूत है- हिंदी फिल्म इंडस्ट्री या बॉलीवुड. जिन इलाकों में हिंदी फिल्में तगड़ा बिजनेस करती हैं वहां भी पंजाबी, गुजराती, उड़िया, बंगाली, भोजपुरी और मराठी सिनेमा तेजी से बढ़ रहा है. लेकिन इनमें से कोई भी इंडस्ट्री अभी हिंदी फिल्मो को डायरेक्ट टक्कर नहीं दे पाती.

ऊपर से साउथ के पांचों राज्यों आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक और केरल में फिल्मों के टिकट के दाम भी सरकारें रेगुलेट करती हैं. इन राज्यों में एक फिल्म टिकट की अधिकतम कीमत पर लिमिट होती है. एवरेज तौर पर एक ही फिल्म का टिकट आपको उत्तर भारत के मुकाबले दक्षिण भारत में ज्यादा सस्ता मिलेगा. ये माहौल सिनेमा को हेल्प करता है और इससे थिएटर्स में भीड़ ज्यादा आती है. लेकिन टिकट पर मुनाफ़ा हिंदी में ज्यादा आता है क्योंकि यहां प्रोड्यूसर-डिस्ट्रीब्यूटर अपनी मर्जी से टिकट के रेट ज्यादा आसानी से तय कर सकते हैं.

साउथ में तमिल या तेलुगू फिल्मों के मुकाबले बॉलीवुड फिल्मों को जितनी स्क्रीन्स मिलती हैं, उस हिसाब से साउथ में हिंदी फिल्मों की कमाई अच्छी खासी हो जाती है. और इस बात के लिए तो साउथ की जनता की खास तारीफ़ बनती है कि वो एक ही वीकेंड में अपने 'थलाइवा' रजनीकांत की 'जेलर', सनी देओल की 'गदर 2' और अक्षय कुमार की 'OMG 2' तीनों के शोज में भर देते हैं.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



जवान' पहुंची 800 करोड़ पार

Posted By: Vishal Maurya Posted On: Sep 18, 2023
शाहरुख खान, सनी देओल

'जवान' ने दूसरे वीकेंड में की धुआंधार कमाई, पहुंची 800 करोड़ पार, मगर नहीं तोड़ पाई 'गदर 2' का ये रिकॉर्ड

शाहरुख खान का जलवा थिएटर्स में कहर ढा रहा है. साल की उनकी दूसरी फिल्म 'जवान' लगातार ऑडियंस में माहौल बनाए हुए है. एक हफ्ते में ही रिकॉर्डतोड़ कमाई करने के बाद, दूसरे वीकेंड में भी 'जवान' ने बेहतरीन कमाई की है. लेकिन इतनी तगड़ी कमाई के बावजूद शाहरुख की फिल्म 'गदर 2' का एक रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाई.

सुपरस्टार शाहरुख खान इस साल सिनेमा लवर्स को लगातार खुशी दे रहे हैं. साल की शुरुआत में उन्होंने बॉलीवुड की सबसे बड़ी फिल्म 'पठान' डिलीवर की. अब अपनी ही नई फिल्म 'जवान' से शाहरुख 'पठान' को भी पीछे छोड़ने के लिए तैयार हैं. सितंबर के पहले हफ्ते में रिलीज हुई उनकी फिल्म लगातार धुआंधार कमाई कर रही है.

'जवान' ने पहले ही हफ्ते में सिर्फ भारत से ही 390 करोड़ का नेट कलेक्शन कर लिया था. जबकि इसका वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 700 करोड़ के बहुत करीब पहुंच गया था. दूसरे वीकेंड में शाहरुख की फिल्म को फिर से तगड़ा जंप मिला और इसने 3 दिन में एक बार फिर सॉलिड कमाई की. पहले ही हफ्ते में 2023 की दूसरी सबसे बड़ी भारतीय फिल्म बन चुकी 'जवान', नए वीकेंड में बड़ी तेजी से 'पठान' के रिकॉर्ड की तरफ बढ़ गई है.

शाहरुख की फिल्म ने अपने दूसरे संडे को कमाई तो बहुत तगड़ी की, लेकिन फिर भी 'गदर 2' के रिकॉर्ड को नहीं छू पाई. आइए बताते हैं दूसरे वीकेंड में शाहरुख की फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर क्या कमाल किए और किस रिकॉर्ड से चूक गई...

'जवान' का दूसरा संडे लाया तगड़ी कमाई दूसरे शुक्रवार शाहरुख की फिल्म ने 19 करोड़ रुपये का नेट कलेक्शन किया था. लेकिन शनिवार फिल्म के लिए 65% का सॉलिड जंप लेकर आया और फिल्म ने 10वें दिन करीब 32 करोड़ रुपये कमाए. अब ट्रेड रिपोर्ट्स बताती हैं कि 'जवान' ने रविवार को, शनिवार से भी ज्यादा कमाई की है. अपने दूसरे रविवार को फिल्म ने 35-37 करोड़ रुपये के बीच कलेक्शन किया है. दूसरे वीकेंड में 'जवान' ने भारत में 86 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन किया है. शाहरुख की फिल्म ने लगातार दूसरे वीकेंड में भी बॉक्स ऑफिस पर अपना दबदबा बनाए रखा.

'गदर 2' के रिकॉर्ड से चूकी 'जवान' दूसरे रविवार को फिल्मों की कमाई तय करती है कि उसका लाइफटाइम कलेक्शन कितना धांसू होने वाला है. सनी देओल की 'गदर 2' के नाम दूसरे रविवार का सबसे बड़ा कलेक्शन है. 'गदर 2' ने इस दिन 39 करोड़ रुपये का नेट कलेक्शन किया था. इसके बाद 'बाहुबली 2' आती है जिसका दूसरा रविवार 34.5 करोड़ रुपये लेकर आया था. 'जवान' ने दूसरे संडे को जो कलेक्शन किया है, उसमें हिंदी वर्जन की कमाई 34-35 करोड़ रुपये तक है. यानी 'जवान' इस मामले में 'गदर 2' से पीछे है.

हिंदी फिल्मों में दूसरे वीकेंड की सबसे बड़ी कमाई भी 'गदर 2' के नाम है. अपने सेकंड वीकेंड में सनी की फिल्म ने 90 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन किया था. जबकि 'बाहुबली 2' के हिंदी वर्जन ने दूसरे वीकेंड में लगभग 81 करोड़ रुपये कमाए थे. 'जवान' का सेकंड वीकेंड कलेक्शन इन दोनों के बीच में होगा. फाइनल आंकड़ों में 'जवान' का दूसरे वीकेंड का हिंदी कलेक्शन 83 करोड़ के आसपास नजर आएगा.

बड़ी इंटरनेशनल फिल्म बनी 'जवान' शाहरुख की फिल्म लगातार दूसरे हफ्ते टॉप 3 ग्लोबल फिल्म्स में शामिल रही. कॉमस्कोर का आंकड़ा बताता है कि बीते वीकेंड 'जवान' ने वर्ल्डवाइड 17.7 मिलियन डॉलर (147 करोड़ रुपये) से ज्यादा ग्रॉस कलेक्शन किया है. शाहरुख की फिल्म ग्लोबल बॉक्स ऑफिस पर हॉलीवुड की दो बड़ी फिल्मों 'द नन' (44.8 मिलियन डॉलर) और 'अ हॉन्टिंग इन वेनिस' (37 मिलियन डॉलर) के बाद तीसरे नंबर पर रही.

विदेशों से यानी ओवरसीज से 'जवान' 300 करोड़ रुपये से ज्यादा ग्रॉस कलेक्शन कर चुकी है. 11 दिन में शाहरुख की फिल्म का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 850 करोड़ रुपये के करीब हो चुका है. 1053 करोड़ रुपये के ग्रॉस कलेक्शन के साथ 'पठान' इस साल की सबसे बड़ी भारतीय फिल्म है. जिस तेजी से 'जवान' कमा रही है, जल्दी ही ये 'पठान' को पीछे छोड़ देगी.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



जवान' की कमाई में तगड़ा जंप लेकर आया शनिवार

Posted By: Jaydatt Chaudhary Posted On: Sep 17, 2023
'जवान' पोस्टर

'जवान' की कमाई में तगड़ा जंप लेकर आया शनिवार, 10 दिन बाद भी भौकाल मचा रहा शाहरुख का तूफान

शाहरुख की लेटेस्ट फिल्म 'जवान' पहले दिन से ही थिएटर्स में धमाके करने लगी थी. दसवें दिन भी फिल्म एकदम फायर मोड में नजर आई. शनिवार को 'जवान' की कमाई में इतना तगड़ा जंप आया है कि दूसरे वीकेंड भी शाहरुख की फिल्म रिकॉर्डतोड़ आंकड़े बॉक्स ऑफिस पर जुटा रही है.

थिएटर्स में इन दिनों 'जवान' नाम का एक तूफान फायर मोड में चल रहा है. सुपरस्टार शाहरुख खान की इस फिल्म ने जनता को ऐसा क्रेजी बना रखा है कि 10 दिन बाद भी थिएटर्स में 'जवान' का स्वैग देखने के लिए जनता की खूब भीड़ जुटी. बड़े पर्दे को रोमांस की जादुई दुनिया में ले जाने वाले शाहरुख इस बार ताबड़तोड़ एक्शन से स्क्रीन्स पर आग लगा रहे हैं. उनका मास अवतार जनता को क्रेजी बना रहा है.

फिल्म के लिए थिएटर्स में ऐसा माहौल है कि पहले ही दिन से फिल्म ने रिकॉर्डतोड़ कमाई करनी शुरू कर दी थी. शनिवार को 'जवान' का थिएटर्स में दसवां दिन था. जनता के बीच दूसरा हफ्ता बिता रही शाहरुख की फिल्म ने एक बार फिर से बॉक्स ऑफिस पर कहर ढाया. दसवें दिन फिल्म की कमाई में बहुत बड़ा जंप आया है. शनिवार की कमाई से शाहरुख के एक बार फिर से कई बड़े बॉक्स रिकॉर्ड्स की लंका लगा दी है.

दसवें दिन फायर मोड में 'जवान' शुक्रवार को शाहरुख की फिल्म ने भारत में 400 करोड़ का माइलस्टोन पार कर लिया था. 9 दिन में फिल्म ने हिंदी वर्जन से 366 करोड़ रुपये और तेलुगू-तमिल वर्जन से 44 करोड़ रुपये का कलेक्शन कर लिया था. शुक्रवार को 19 करोड़ के कलेक्शन के साथ, फिल्म की कुल कमाई 410 करोड़ रुपये हो गई थी.

शनिवार की ट्रेड रिपोर्ट्स बताती हैं कि 'जवान' की कमाई में दसवें दिन 60% से ज्यादा जंप आया है. दूसरे शनिवार को फिल्म ने 30 से 32 करोड़ रुपये के बीच कलेक्शन किया है. यानी शनिवार की कमाई के बाद 'जवान' ने बॉक्स ऑफिस पर 440 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन कर लिया है. जबकि ग्लोबल बॉक्स ऑफिस पर फिल्म का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 800 करोड़ के बहुत करीब पहुंच गया है.

पहले 10 दिन में कोई नहीं कर पाया ऐसी कमाई 10 दिन की कमाई के बाद 'जवान' का सिर्फ हिंदी कलेक्शन ही 395 करोड़ रुपये के करीब पहुंच गया है. अबतक कोई भी हिंदी फिल्म पहले 10 दिन में इतनी कमाई नहीं कर पाई. पहले दस दिन में सबसे ज्यादा कमाई का रिकॉर्ड इसी साल शाहरुख की पहली रिलीज 'पठान' ने बनाया था. लेकिन इसे 8 महीने बाद ही 'गदर 2' ने तोड़ दिया था. सनी की फिल्म ने पहले 10 दिन में 375 करोड़ की कमाई की थी. लेकिन अब इन दोनों को 'जवान' ने पीछे छोड़ दिया है.

दूसरे शनिवार की सबसे बड़ी कमाई दूसरे हफ्ते के शनिवार तक बॉक्स ऑफिस पर दम बनाए रखना बताता है कि फिल्म का क्रेज कितना तगड़ा है. अबतक दूसरे शनिवार को सबसे ज्यादा कमाने वाली हिंदी फिल्म 'गदर 2' है, जिसका कलेक्शन 31 करोड़ रुपये था. फाइनल आंकड़ों में 'जवान' का दूसरा शनिवार भी इस आंकड़े के बहुत करीब पहुंचने वाला है. इन दोनों फिल्मों से पहले दूसरे शनिवार को सबसे बड़ा कलेक्शन 6 साल पहले 'बाहुबली 2' ने किया था. प्रभास की फिल्म ने दूसरे शनिवार को 26.5 करोड़ रुपये कमाए थे.

शनिवार के बाद 'जवान' रविवार को भी धमाकेदार कमाई करने के लिए तैयार है. एडवांस बुकिंग इशारा करती है कि रविवार को तो फिल्म की कमाई और जंप लेने वाली है. 'जवान' अपने दूसरे वीकेंड में 80 करोड़ रुपये तक कमाने के लिए तैयार है. जबकि बहुत सी बड़ी हिट्स पहले वीकेंड में इतनी कमाई नहीं कर पातीं.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



दीपिका को मां के रोल के लिए कैसे मनाया शाहरुख ने

Posted By: Ajay Rawat Posted On: Sep 16, 2023
दीपिका पादुकोण, शाहरुख खान

दीपिका को मां के रोल के लिए कैसे मनाया शाहरुख ने, सुनाया दिलचस्प किस्सा

जवान में दीपिका पादुकोण के किरदार ने महफिल लूट ली थी. इसमें दीपिका मां की भूमिका में नजर आई थी. कुछ मिनटों के लिए ही स्क्रीन पर आई दीपिका ने अपनी जबरदस्त एक्टिंग से फैंस का दिल जीत लिया था.

जवान में फैंस ने दीपिका पादुकोण का वो अवतार देखा, जिसे शायद अब तक दीपिका ने कभी भी सिल्वर स्क्रीन पर नहीं निभाया है. दीपिका पहली बार इस फिल्म में मां के किरदार में नजर आई थीं. हालांकि दीपिका को शाहरुख ने मां के रोल के लिए कैसे मनाया, वो किस्सा भी मजेदार है.

शाहरुख ने सुनाया किस्सा जवान फिल्म के सक्सेस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शाहरुख ने बताया, दीपिका मेरे दिल के बहुत करीब है. जब एटली ने मुझे बताया कि वो फिल्म में एक कैमियो के लिए दीपिका को लेना चाहते हैं. मैं जाकर दीपिका को इसके लिए कन्विंस करूं, तो मैं थोड़ा हिचक गया था. मुझे याद है, पठान के सेट पर ही मैंने दीपिका को इस फिल्म के लिए कहा था. हालांकि हमने उन्हें कैमियो का बोलकर उनसे पूरी लेंथ वाली फिल्म करवा ली है. बेचारी को हमने बेवकूफ बना दिया था.

शाहरुख आगे कहते हैं, उस दिन हम बेशर्म रंग गाने की शूटिंग कर रहे थे. मैं उन्हें सेट पर देख रहा था और पास में मेरी मैनेजर पूजा को मैंने कहा कि तुम्हें नहीं लगता दीपिका मां के रोल में बहुत ग्रेसफुल लगेंगी. मैंने पूजा से कहा कि तुम जाओ और दीपिका से पूछो कि क्या वो मेरी अगली फिल्म में मां बनना चाहेंगी. पूजा दो सेकेंड में वापस आ गईं और उन्होंने कहा कि दीपिका ने हामी भर दी है. वो कह रही हैं, जब शाहरुख कहें, मैं तैयार हूं. मैं उसकी जवाब से सरप्राइज हो गया था. दीपिका ने प्रूव कर दिया कि वो बड़ी साइज एक्टर हैं.

वहीं दीपिका ने इस रोल से जुड़ने पर अपनी बात कही है, मैं प्रोजेक्ट 'के' की शूटिंग के सिलसिले में हैदराबाद में थी. एटली मेरे पास आए और मुझे नरैशन सुनाने लगे थे. कहानी सुनने के एक मिनट में ही मैंने कहा कि अपना टाइम वेस्ट क्यों कर रहे हो. मैं इस रोल के लिए राजी हूं. मेरे लिए लेंथ मायने नहीं रखता है. इसका इंपैक्ट बहुत जरूरी है. दूसरी बात यह भी है कि हर कोई मेरे शाहरुख के प्यार से वाकिफ है, वो जब कहेंगे, मैं वहां रेडी रहूंगी.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



जवान' 8 ही दिन में पहुंची 700 करोड़ के करीब

Posted By: Jogendra Kumar Posted On: Sep 15, 2023
'जवान' में शाहरुख खान

'जवान' 8 ही दिन में पहुंची 700 करोड़ के करीब, आज बहुत पीछे छूट जाएगा पठान-गदर 2 का रिकॉर्ड!

'जवान' की थिएटर्स में धमाकेदार एंट्री को एक हफ्ता पूरा हो गया है. शाहरुख खान की ये फिल्म थिएटर्स में ऐसी कमाई कर रही है, जिसकी उम्मीद भी अबसे पहले किसी को नहीं थी. 8 ही दिन में फिल्म की कमाई ने बड़े-बड़े रिकॉर्ड धराशायी कर दिए हैं. अब शुक्रवार को 'जवान' एक नया कमाल करने वाली है.

शाहरुख खान का क्रेज थिएटर्स में बवाल मचा रहा है. उनकी लेटेस्ट फिल्म 'जवान थिएटर्स में लगातार भीड़ जुटा रही है. रोमांस के बादशाह को मास एक्शन अवतार में लेकर आने वाली 'जवान' के लिए पूरे हफ्ते थिएटर्स में जनता भीड़ लगाकर पहुंचती रही. पहले ही दिन से रिकॉर्डतोड़ कमाई करने वाली जवान ने बॉक्स ऑफिस पर एक हफ्ता पूरा कर लिया है. इस एक हफ्ते में फिल्म ने धुआंधार कलेक्शन किया है.

गुरुवार को रिलीज होने से, फिल्म के पहले बॉक्स ऑफिस हफ्ते में 8 दिन मिले. बॉलीवुड के लिए सबसे बड़ा ओपनिंग कलेक्शन लेकर आई 'जवान' ने पहले वीकेंड में ही वर्ल्डवाइड 500 करोड़ रुपये से ज्यादा ग्रॉस कलेक्शन कर डाला. सोमवार से फिल्म का असली टेस्ट शुरू हुआ. एक तो वर्किंग डेज शुरू हो गए और ऊपर से क्रिकेट का बड़ा टूर्नामेंट एशिया कप भी चल रहा है. लेकिन इसके बावजूद फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अपनी दमदार पकड़ बनाए रखी और अब एक हफ्ते बाद 'जवान' का कलेक्शन बहुत सॉलिड हो चुका है.

गुरुवार को 'जवान' की सॉलिड कमाई बुधवार को भारत में 'जवान' ने 23 करोड़ रुपये से ज्यादा का कलेक्शन किया और इसका टोटल नेट कलेक्शन 368 करोड़ से ज्यादा हो गया. गुरुवार को भी फिल्म की कमाई में 20% की नॉर्मल सी गिरावट आई और 8वें दिन का कलेक्शन 18 से 19 करोड़ रुपये के बीच रहा. अब 'जवान' का नेट इंडिया कलेक्शन 386 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया है. जिसमें फिल्म के हिंदी वर्जन से करीब 345 करोड़ रुपये का नेट कलेक्शन हुआ है.

सबसे तेज 350 करोड़ कमाने वाली हिंदी फिल्म पहले हफ्ते में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली हिंदी फिल्म शाहरुख की ही 'पठान' है, जिसके बाद दूसरे नंबर पर 'जवान' अ जाएगी. लेकिन बुधवार को रिलीज हुई 'पठान' के पहले बॉक्स ऑफिस हफ्ते में 9 दिन थे, जबकि 'जवान' में 8. 'जवान' का हिंदी कलेक्शन शुक्रवार को 350 करोड़ का आंकड़ा पार कर जाएगा. इस मामले में शाहरुख की नई फिल्म, उन्हीं की पिछली फिल्म 'पठान' का 9 दिन का रिकॉर्ड बराबर कर लेगी. 10 दिन में 350 करोड़ कमाने वाली 'गदर 2', अब इन दोनों के बाद तीसरे नंबर पर पहुंच जाएगी.

सबसे तेज 400 करोड़ कमाने को तैयार 'जवान' 'जवान' को 400 करोड़ का आंकड़ा पार करने के लिए अब सिर्फ 14 करोड़ रुपये की जरूरत है. गुरुवार को 18 करोड़ रुपये कमाने के बाद, शुक्रवार को अगर फिल्म का कलेक्शन थोड़ा गिरता भी है तो कम से कम 14 करोड़ तो आ ही जाएंगे. 9वें दिन 'जवान' का नेट इंडिया कलेक्शन 400 करोड़ पार कर जाएगा. इस आंकड़े तक पहुंचने वाली ये सबसे तेज फिल्म होगी.

अबतक सबसे तेज 400 करोड़ कमाने वाली बॉलीवुड फिल्म 'पठान' है, जिसे ये कमाल करने में 11 दिन लगे थे. जबकि 'गदर 2' ने 12 दिन में 400 करोड़ का आंकड़ा पार किया था. अब 'जवान' इन दोनों बॉलीवुड फिल्मों का रिकॉर्ड अच्छे-खासे अंतर से पार करने वाली है.

700 करोड़ पार करने को भी तैयार वर्ल्डवाइड बॉक्स ऑफिस पर 'जवान' ने बुधवार तक 660 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन कर लिया था. ग्लोबल बॉक्स ऑफिस से फाइनल आंकड़े आने पर, गुरुवार को फिल्म का ग्रॉस कलेक्शन 33 करोड़ रुपये से ज्यादा नजर आएगा. ये आंकड़ा 8 दिन में 'जवान' के वर्ल्डवाइड कलेक्शन को 700 करोड़ के बहुत करीब ले जाएगा. फिल्म को अगर ओवरसीज मार्किट में गुरुवार के दिन ग्रोथ मिलता है तो आज ही, वर्ना शुक्रवार की कमाई से तो फिल्म का वर्ल्डवाइड कलेक्शन 700 करोड़ रुपये के पार जरूर पहुंच जाएगा.

1000 करोड़ रुपये से ज्यादा वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन के साथ शाहरुख की 'पठान' बॉलीवुड की सबसे बड़ी फिल्म है. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि 'जवान' की कमाई कहां तक पहुंचती है. शाहरुख की लेटस्ट फिल्म को अभी पहला हफ्ता ही बीता है. दूसरे वीकेंड में 'जवान' की कमाई एक बार फिर से बढ़ेगी और सांसे के बाद फिल्म की कमाई और भी तगड़ी नजर आएगी.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



टिकट के बढ़े रेट

Posted By: Tarun Kumar Posted On: Sep 12, 2023
'जवान' पोस्टर

टिकट के बढ़े रेट, साउथ में दबदबा, छोटे शहरों में भौकाल... 'जवान' ने ऐसे खड़ा किया 500 करोड़ का तूफान

गुरुवार को रिलीज हुई 'जवान' ने पहले वीकेंड में ही कमाई का ऐसा पहाड़ खड़ा कर दिया, जो बॉलीवुड इंडस्ट्री ने कभी नहीं देखा. शाहरुख की नई फिल्म, उनकी पिछली रिलीज 'पठान' से भी कहीं आगे निकल गई है. आइए बताते हैं कि इतने कम दिनों में 'जवान' की कमाई इतनी जबरदस्त कैसे हुई.

शाहरुख खान की 'जवान' थिएटर्स में ऐसी धमाकेदार कमाई कर रही है कि कमाई के बड़े-बड़े माइलस्टोन छोटे लगने लगे हैं. गुरुवार को रिलीज हुई इस फिल्म के लिए जनता में ऐसा क्रेज है कि कई थिएटर्स में तो पूरे वीकेंड टिकट ही अवेलेबल नहीं रहे. शाहरुख के मास अवतार का भौकाल ऐसा है कि जनता हूटिंग करते और सीटियां मारते नहीं थक रही.

ऑडियंस में 'जवान' के इस तूफानी क्रेज का कमाल बॉक्स ऑफिस पर बहुत तगड़ा कमाल लेकर आया है. इस साल शाहरुख की दूसरी फिल्म बनकर आई 'जवान' ने सिर्फ 4 ही दिन में वर्ल्डवाइड 521 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन कर लिया है. पहले वीकेंड में सिर्फ भारत से ही फिल्म ने 286 करोड़ रुपये का नेट कलेक्शन कर लिया. 'जवान' की कमाई के आंकड़े सिर्फ चार ही दिन में इतने तगड़े हो गए हैं कि एक बार के लिए तो शायद कई लोगों को यकीन भी न हो. लेकिन असल में फिल्म की इस ताबड़तोड़ कमाई की वजह बहुत सिंपल है.

'पठान' की रिकॉर्डतोड़ कामयाबी के बाद, अब एक बिल्कुल नए अवतार में स्क्रीन पर आग लगा रहे शाहरुख को देखने की एक्साइटमेंट दर्शकों में बहुत तगड़ी थी. इस उत्साह में डूबी हुई जनता ने थिएटर्स ऐसे भरे कि 'जवान' ने उन जगहों पर भी धुआंधार कमाई की, जहां जनरली हिंदी फिल्मों का क्रेज बहुत तगड़ा नहीं रहता है. 'पठान' के अलावा इसी साल 'गदर 2' ने भी धुआंधार कमाई की, लेकिन 'जवान' इन दोनों से ही बहुत आगे निकलने को तैयार है. आइए बताते हैं कि 'जवान' की कमाई इतनी ग्रैंड कैसे हुई...

टिकट के बढ़े दाम 'जवान' के टिकट मल्टीप्लेक्स में 'पठान' के मुकाबले ज्यादा महंगे बिके. रिपोर्ट्स बताती हैं कि वीकेंड में, मल्टीप्लेक्स में इसके टिकट 'पठान' के मुकाबले 15-20% तक महंगे रहे. इस वजह से नेशनल चेन्स में 'जवान' की कमाई को फायदा मिला. सस्ते टिकट वाले सिंगल स्क्रीन्स में 'जवान' के लिए भीड़, 'पठान' से ज्यादा रही. इसलिए वहां लगभग सेम टिकट रेट के बावजूद कमाई ज्यादा हुई.

साउथ में 'जवान' का धमाका 'जवान' तमिल इंडस्ट्री के हिट डायरेक्टर्स में से एक एटली की फिल्म है. और इसमें साउथ की सुपरस्टार एक्ट्रेस नयनतारा और शानदार एक्टर विजय सेतुपति भी हैं. ये दोनों ही कलाकार तमिल और तेलुगू जनता में बहुत पॉपुलर हैं. इस साउथ कनेक्शन ने 'जवान' को साउथ के पांचों राज्यों में जमकर कमाई करवाई है. शाहरुख की लेटेस्ट फिल्म 'जवान' 4 ही दिन में, साउथ में सबसे ज्यादा कमाने वाली बॉलीवुड फिल्म बन चुकी है. इससे पहले 'पठान' ने अपने 5 दिन के वीकेंड में साउथ के पांचों राज्यों से 66 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन किया था. जबकि 'जवान' 4 दिन में ही यहां से 98 करोड़ रुपये से ज्यादा ग्रॉस जुटा चुकी है. शाहरुख की नई फिल्म साउथ में कलेक्शन का तगड़ा लाइफटाइम रिकॉर्ड बनाने वाली है.

'पठान' जितनी स्क्रीन्स, 'गदर 2' से जैसी भीड़ सनी देओल की 'गदर 2' का नेट इंडिया कलेक्शन, 'पठान' से भी पहले 500 करोड़ पार हो गया था. जबकि दोनों फिल्मों के स्क्रीन काउंट में काफी अंतर था. बॉलीवुड के सबसे बड़े प्रोडक्शन हाउस में से एक, यश राज फिल्म्स की 'पठान' पहले वीकेंड लगभग 5500 स्क्रीन्स पर रिलीज हुई थी. लेकिन इसकी तुलना में सनी की फिल्म को काफी कम स्क्रीन्स मिलीं.

अपने पहले वीकेंड में जब 'गदर 2' का जलवा एकदम जोर पर था, तब भी इसे 3800 तक ही स्क्रीन्स मिली थीं. इसकी सबसे बड़ी वजह थी हिंदी में 'OMG 2' और साउथ में रजनीकांत की 'जेलर' से फिल्म का क्लैश. हालांकि, जनता में 'गदर 2' का क्रेज ऐसा था कि कम शोज में ही भीड़ ज्यादा जुटी. 5 दिन के वीकेंड में जहां 'पठान' (हिंदी) की एवरेज ऑक्यूपेंसी 47% थी. वहीं 3 दिन के वीकेंड में 'गदर 2' की एवरेज ऑक्यूपेंसी 70.5% थी.

रिपोर्ट्स बताती हैं कि 'जवान' को पहले वीकेंड में, इंडिया की 5500 से ज्यादा स्क्रीन्स मिलीं. इसके साथ किसी बड़ी फिल्म का क्लैश भी नहीं था और 'गदर 2' को एक महीना हो चुका था. शाहरुख के क्रेज ने ऐसी भीड़ जुटाई कि 4 दिन के वीकेंड में 'जवान' (हिंदी) की एवरेज ऑक्यूपेंसी 59% के करीब रही. यानी इस फिल्म को शोज 'पठान' की तरह भरपूर मिले, और भीड़ 'गदर 2' की तरह.

डबिंग वर्जन में शानदार कमाई 4 दिन में ही 'जवान' के तमिल और तेलुगू वर्जन ने मिलकर 34 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन किया है. सैकनिल्क का डाटा बताता है कि शाहरुख की फिल्म से पहले तमिल-तेलुगू डबिंग में सबसे ज्यादा कलेक्शन 'ब्रह्मास्त्र' ने किया था. रणबीर कपूर की फिल्म ने दोनों वर्जन से करीब 20 करोड़ रुपये कमाए थे.

सिंगल स्क्रीन्स और छोटे शहरों में भौकाल बीते कुछ समय से फिल्मों के कलेक्शन बताने वाले ट्रेड एक्सपर्ट्स, तीन बड़ी मल्टीप्लेक्स चेन्स - PVR, INOX और कार्निवल (PIC), की कमाई अलग से बताते हैं. वजह ये है कि पिछले कुछ सालों से बॉलीवुड फिल्मों का बिजनेस मल्टीप्लेक्स और शहरी थिएटर्स पर ज्यादा डिपेंड करने लगा है. जैसे- 'रॉकी और रानी की प्रेम कहानी' ने पहले दिन 11.1 करोड़ का नेट कलेक्शन किया. जिसमें PIC से फिल्म ने 6.75 करोड़ कमाए. यानी 60% से ज्यादा कलेक्शन यहां से आया.

जबकि इस साल की तीनों बड़ी बॉलीवुड हिट्स ने PIC के अलावा बाकी सिनेमा चेन्स, सिंगल स्क्रीन्स, और छोटे शहरों में जमकर बिजनेस किया. साल की पहली 500 करोड़ वाली हिट 'पठान' को 57 करोड़ की बंपर ओपनिंग मिली. इसमें करीब 27 करोड़ PIC से आए और बाकी 30 करोड़ (कुल ओपनिंग का 53%) नॉन-PIC थिएटर्स से. 'गदर 2' की 40 करोड़ की ओपनिंग में, 25.5 करोड़ यानी 64% हिस्सा नॉन-PIC से आया.

'जवान' ने पहले दिन के 75 करोड़ नेट कलेक्शन में, 45 करोड़ से ज्यादा (60%) नॉन-PIC थिएटर्स से कमाए. पहले वीकेंड में कमाए 286 करोड़ में, 'जवान' ने PIC से 120 करोड़ का कलेक्शन किया. नॉन-PIC से फिल्म ने 166 करोड़, यानी पूरे वीकेंड कलेक्शन का 58% कलेक्शन किया. ये बताता है कि बड़े शहरों के अलावा छोटे सेंटर्स से 'जवान' ने तगड़ी कमाई की. इससे 'जवान' की कमाई में भारत का हिस्सा बढ़ा.

शाहरुख का इंटरनेशनल जलवा भारत में तो शाहरुख सबसे बड़े सुपरस्टार्स में गिने ही जाते हैं, लेकिन विदेशों में उनकी फिल्मों का मार्किट बहुत तगड़ा है. इसी साल 'पठान' ने ओवरसीज मार्किट में शानदार कमाई की थी. पहले 4 दिन में 'पठान' का वर्ल्डवाइड ग्रॉस 429 करोड़ रुपये था, जिसमें से 165 करोड़ (38% से ज्यादा) ग्रॉस, ओवरसीज मार्किट से आया था. लेकिन 'जवान' की कमाई में इंडिया से आया ग्रॉस कलेक्शन ज्यादा रहा, ओवरसीज का हिस्सा कम.

'जवान' ने पहले 4 दिन वर्ल्डवाइड बॉक्स ऑफिस पर ऑलमोस्ट 521 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन किया. इसमें ओवरसीज मार्किट से 177 करोड़ रुपये का ग्रॉस कलेक्शन था. यानी 'जवान' की कमाई में विदेशों से आई कमाई का हिस्सा 34% रहा, जो 'पठान' के कलेक्शन में 38% था.

रिपोर्ट्स बताई हैं कि पश्चिम बंगाल, असम, उड़ीसा और गुजरात जैसे सेंटर्स में 'जवान' के शोज खूब हाउसफुल हुए हैं. भारत के पड़ोसी देशों नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका में भी 'जवान' के शोज फुल चल रहे हैं. 4 ही दिन में 500 करोड़ से ज्यादा कमाने वाली 'जवान' भले एक बॉलीवुड फिल्म है, लेकिन इसकी कमाई हिंदीभाषी राज्यों तक लिमिटेड नहीं है. साउथ के मार्किट में दबदबा बनाना, और हिंदी फिल्मों के ट्रेडिशनल मार्किट के साथ ही बाकी मार्केट्स का साथ आना 'जवान' की धुआंधार कमाई का बड़ा कारण है.

चारों तरफ से 'जवान' पर होती कमाई की बौछार इस बात को मजबूत करती है कि ऐसी कि हीरो के शानदार मोमेंट्स के साथ आई एक मास फिल्म के लिए मार्किट बहुत बड़ा है. अगर फिल्ममेकर्स अपनी कहानियों से इस मार्किट को पूरी तरह एक्सप्लोर करें, तो बॉक्स ऑफिस में और भी तगड़ी कमाई देने का दम है.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



शाहरुख की 'जवान' लाई हिंदी सिनेमा का सबसे कमाऊ दिन

Posted By: Tarun Kumar Posted On: Sep 11, 2023
'जवान' पोस्टर

शाहरुख की 'जवान' लाई हिंदी सिनेमा का सबसे कमाऊ दिन, रविवार को रिकॉर्ड्स की बौछार, 4 दिन में 500 करोड़ पार

शाहरुख खान की फिल्म 'जवान' थिएटर्स में ऐसा बिजनेस कर रही है जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा. 'पठान' की कमाई के आंकड़ों से शाहरुख ने हिंदी सिनेमा फैन्स को हैरान कर दिया था. लेकिन 'जवान' से सर 4 दिन में उन्होंने दिखाया है कि वो कितना बड़ा धमाका कर सकते हैं.

'जवान' से शाहरुख खान ने थिएटर्स को वो दिन दिखाने शुरू कर दिए हैं, जिनका सपना फिल्म बिजनेस कभी देखता रहा होगा. पहले दिन से ही थिएटर्स में उनकी फिल्म का क्रेज जनता के सर चढ़कर बोल रहा है. और ये हाल सिर्फ भारत में ही नहीं है, बल्कि इंटरनेशनल मार्किट में भी है.

इस साल की शुरुआत में शाहरुख ने 'पठान' से बड़ी धुआंधार वापसी की थी. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कमाई के ऐसे आंकड़े जुटाए, जो बॉलीवुड फिल्मों ने पहले कभी नहीं देखे थे. अब 'जवान' से शाहरुख जैसे ये साबित करने पर जुटे हैं कि उनके अनलिमिटेड स्वैग का जादू बॉक्स ऑफिस का साइज इतना बढ़ा सकता है कि कोई अनुमान भी नहीं लगा सकता.

गुरुवार को रिलीज वाले दिन रिकॉर्डतोड़ कमाई करने वाली 'जवान', शुक्रवार को बॉक्स ऑफिस पर थोड़ी सी हल्की पड़ी. लेकिन शनिवार को फिल्म ने अकल्पनीय जंप लिया और बॉक्स ऑफिस पर तूफान ला दिया. रविवार को 'जवान' ने एक बार फिर से हिंदी फिल्मों को एक ऐतिहासिक कमाई वाला दिन दिया है. आइए बताते हैं सिर्फ 4 दिन में ही 'जवान' की कमाई ने क्या बवाल मचाया है...

पहली बार एक ही दिन में 80 करोड़ ट्रेड रिपोर्ट्स बताती हैं कि रविवार को 'जवान' ने भारत में 80 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन कर डाला. चौथे दिन शाहरुख की फिल्म का कलेक्शन 80 से 82 करोड़ रुपये के बीच है. किसी भी बॉलीवुड फिल्म ने पहली बार एक ही दिन में इतनी कमाई देखी है. सिर्फ हिंदी में ही 'जवान' ने रविवार को 70 करोड़ रुपये से ज्यादा कलेक्शन किया. रविवार के दिन कमाई करने वाली सबसे बड़ी फिल्मों 'पठान' और 'गदर 2' भी 60 करोड़ का आंकड़ा पार नहीं कर पाई थीं. लेकिन 'जवान' के आगे सारी फिल्मों की कमाई छोटी नजर आने लगी है.

सिर्फ 4 दिन में ही देश से कमाए 250 करोड़ रुपये से ज्यादा भारत में गुरुवार को 'जवान' ने 75 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड ओपनिंग की थी. शुक्रवार को फिल्म ने छोटी सी गिरावट के साथ 53 करोड़ और शनिवार को तगड़े जंप के साथ 78 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया. रविवार की ऐतिहासिक कमाई के बाद, सिर्फ 4 दिन में ही 'जवान' का नेट इंडिया कलेक्शन 285 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया है.

इससे पहले, 250 करोड़ का आंकड़ा सबसे तेजी से पार करने वाली फिल्म शाहरुख की ही 'पठान' थी. 'पठान' को यहां तक पहुंचने में 5 दिन लगे थे. इसके पीछे-पीछे सनी देओल की 'गदर 2' ने 6 दिन में 250 करोड़ से ज्यादा कमाई की थी. लेकिन अब 'जवान' इन दोनों से आगे है.

'जवान' हिंदी फिल्मों के लिए सबसे बड़ा वीकेंड भी लेकर आई है. इससे पहले 'पठान' ने अपने पहले वीकेंड में 280 करोड़ कमाए थे. 194 करोड़ रुपये के नेट कलेक्शन के साथ, KGF 2 का फर्स्ट वीकेंड कलेक्शन अब तीसरे नंबर पर है. जबकि पिछले साल लगा था कि KGF 2 के रिकॉर्ड लंबे वक्त तक नहीं टूटेंगे. लेकिन शाहरुख इस साल अलग लेवल पर धमाके कर रहे हैं.

4 ही दिन में 500 करोड़ पार 'जवान' ने सिर्फ भारत में ही नहीं, विदेशी मार्केट्स में भी जमकर कमाई की है. विदशों से मिली कमाई ने ग्लोबल बॉक्स ऑफिस पर शाहरुख की फिल्म को बहुत मजबूत बना दिया. सिर्फ 3 दिन में ही 'जवान' 300 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई थी और इसका वर्ल्डवाइड कलेक्शन 384 करोड़ से ज्यादा पहुंच गया.

भारत के बाहर कई देशों में अभी रविवार ख़त्म नहीं हुआ है. रविवार को आया जंप इशारा कर रहा है कि शनिवार को ओवरसीज में 140 करोड़ से ज्यादा ग्रॉस कलेक्शन करने वाली 'जवान', चौथे दिन 150 करोड़ तक जाएगी. यानि सिर्फ चौथे दिन के फाइनल आंकड़े आने के बाद, 4 दिन में ही 'जवान' का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 535 करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा.

शाहरुख खान ने 'जवान' से बॉक्स ऑफिस को हिला कर रख दिया है. हर दिन फिल्म की कमाई ऐसे रिकॉर्ड बना रही है जो किसी ने सोचे भी नहीं होंगे. 'पठान' के बाद शाहरुख, 'जवान' से दिखा रहे हैं कि वो इंडिया के सबसे बड़े इंटरनेशनल स्टार हैं.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



जवान' का बॉक्स ऑफिस पर तूफान

Posted By: Anita Mamgai Posted On: Sep 10, 2023
'जवान' बॉक्स ऑफिस कलेक्शन रिपोर्ट

'जवान' शनिवार को लाई बॉक्स ऑफिस पर तूफान, तोड़ा पठान-गदर 2 का रिकॉर्ड, 3 दिन में कमा डाले 350 करोड़

शाहरुख खान की फिल्म 'जवान' थिएटर्स में बॉक्स ऑफिस पर कामयाबी की नई कहानी लिख रही है. पहले ही दिन से फिल्म ने धांसू कमाई शुरू की और अब तक तीन दिन में ऐसा कलेक्शन कर चुकी है जो ऐतिहासिक है. इसकी कमाई ने पठान-गदर 2 के रिकॉर्ड बड़े अंतर से तोड़ दिए हैं.

इस साल जनवरी में आई फिल्म 'पठान' से शाहरुख खान ने 4 साल बाद बड़े पर्दे पर वापसी की. अपने स्पाई अवतार में शाहरुख ने बॉलीवुड इंडस्ट्री की सबसे कमाऊ फिल्म बॉक्स ऑफिस को दी. अब 8 महीने बाद शाहरुख की नई फिल्म 'जवान' थिएटर्स में चल रही है. अगर 'पठान' शाहरुख की वापसी थी तो 'जवान' से वो बॉक्स ऑफिस पर अपनी बादशाहत मजबूत कर रहे हैं.

'जवान' में शाहरुख एक ऐसे अवतार में दिख रहे हैं, जैसा उन्हें पहले कभी नहीं देखा गया. शाहरुख के एक्शन, इंटेंस लुक्स और स्वैग का क्रेज थिएटर्स में ऐसा चल रहा है कि इस वीकेंड तो थिएटर्स में 'जवान' के टिकट मिलना मुश्किल हो गया. गुरुवार को थिएटर्स में रिलीज हुई 'जवान' बॉलीवुड के इतिहास में सबसे बड़ी ओपनिंग करने वाली फिल्म बनी. शुक्रवार को वर्किंग डे होने से फिल्म की कमाई में थोड़ी सी गिरावट जरूर आई. लेकिन शनिवार शाहरुख की फिल्म के लिए ऐसा जंप लेकर आया जिसने बहुत बड़े-बड़े कमाल कर डाले हैं.

शनिवार को बॉक्स ऑफिस पर गरजा 'जवान' पहले ही दिन 75 करोड़ कमाने वाली 'जवान' के लिए शुक्रवार का कामकाजी दिन थोड़ी सी गिरावट लेकर आया. दूसरे दिन फिल्म ने भारत में 53 करोड़ रुपये से ज्यादा नेट कलेक्शन किया. मगर शनिवार को फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसा सॉलिड जंप लिया कि तीसरे दिन इसकी कमाई, लगभग पहले दिन के लेवल पर हुई है.

ट्रेड रिपोर्ट्स बताती हैं कि तीसरे दिन देश में 'जवान' का नेट कलेक्शन 73 से 75 करोड़ रुपये की रेंज में हुआ है. यानी सिर्फ तीन ही दिन में शाहरुख की फिल्म ने भारत में 200 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर डाला है. शनिवार के बाद 'जवान' का नेट कलेक्शन 201 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

सबसे तेज 200 करोड़ कमाने वाली बॉलीवुड फिल्म जनवरी में शाहरुख की फिल्म 'पठान' ने जब सिर्फ 4 दिन में, देश में 200 करोड़ से ज्यादा नेट कलेक्शन किया तो लोगों के मुंह खुले रह गए थे. लेकिन अब तो जैसे शाहरुख ने 200 करोड़ के आंकड़े को नया 'सौ करोड़' बना दिया है. सिर्फ तीन दिन में इस आंकड़े तक पहुंची 'जवान' सबसे तेज बॉलीवुड फिल्म है. शाहरुख की दोनों फिल्मों के बाद तीसरे नंबर पर इसी साल रिलीज हुई 'गदर 2' आती है. सनी देओल की फिल्म ने 5 दिन में 200 करोड़ का आंकड़ा पार किया था.

शनिवार को सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्म 'जवान' हिंदी फिल्मों के इतिहास में अबतक तीसरे दिन की सबसे बड़ी कमाई का रिकॉर्ड 'गदर 2' के नाम था. पिछले महीने रिलीज हुई इस फिल्म ने अपने तीसरे दिन 51.7 करोड़ रुपये कमाए थे. रिलीज के पहले शनिवार का सबसे ज्यादा कलेक्शन, 51.5 करोड़ रुपये, शाहरुख की 'पठान' के नाम था. अब ये दोनों ही रिकॉर्ड 'जवान' के नाम हैं.

रिपोर्ट्स कहती हैं कि शनिवार को सिर्फ हिंदी में ही 'जवान' की कमाई 65 करोड़ रुपये से ज्यादा हुई है. शाहरुख की लेटेस्ट फिल्म अब रिलीज के तीसरे दिन और पहले शनिवार सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म है.

वर्ल्डवाइड 350 करोड़ पार 'जवान' ने दो ही दिन में वर्ल्डवाइड 240 करोड़ रुपये से ज्यादा का ग्रॉस कलेक्शन किया. तीसरे दिन इंडिया में ही फिल्म ने 90 करोड़ रुपये के करीब ग्रॉस कलेक्शन किया है, जबकि ओवरसीज मार्किट में भी फिल्म ने शनिवार को सॉलिड ग्रोथ हासिल की है. फाइनल आंकड़े सामने आने तक 'जवान' का, तीसरे दिन का वर्ल्डवाइड ग्रॉस कलेक्शन 125 करोड़ से ज्यादा नजर आएगा. यानी शाहरुख की फिल्म ने तीन ही दिन में वर्ल्डवाइड बॉक्स ऑफिस पर 350 करोड़ रुपये से ज्यादा कलेक्शन कर लिया है.

'जवान' अब हर दिन, कमाई के सारे टॉप रिकॉर्ड अपने नाम करने पर लगी है. रविवार के लिए फिल्म की एडवांस बुकिंग शुक्रवार जितनी तगड़ी है और थिएटर्स में बढ़े हुए शोज फिल्म को जबरदस्त कमाई करवाने वाले हैं. चौथे दिन 'जवान', अपने ओपनिंग रिकॉर्ड को भी तोड़ने की तरफ बढ़ रही है.

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.



जवान के बहाने बहुत कुछ बोल गए शाहरुख

Posted By: Preeti Dabar Posted On: Sep 09, 2023
'जवान' की कहानी में शाहरुख खान की पॉलिटिक्स

जवान के बहाने बहुत कुछ बोल गए शाहरुख, चुप्पी के पीछे क्या थी किंग खान की रणनीति?

'जवान' में शाहरुख का मास अवतार, उनका एक्शन और लुक्स थिएटर्स में भौकाल मचा रहे हैं. एक मसाला एक्शन फिल्म में शाहरुख ने जिस तरह सोशल मैसेज डिलीवर किया है, वो दर्शकों को बहुत अपील कर रहा है. इस मैसेज में पॉलिटिक्स का जिक्र है, एकदम खुलकर. हिंदी मेनस्ट्रीम मसाला फिल्म में ऐसा बहुत दिन बाद हुआ है.

'जवान' का तूफान थिएटर्स में पहुंच चुका है. गुरुवार को रिलीज हुई शाहरुख खान की लेटेस्ट फिल्म पहले ही दिन से बॉक्स ऑफिस पर कहर बरपाना शुरू कर चुकी है. 'जवान' के लिए जनता का क्रेज ऐसा रहा कि इसने इसका पहला ही दिन, हिंदी फिल्मों के इतिहास में एक दिन का सबसे बड़ा कलेक्शन लेकर आया. किसी भी फिल्म का बिजनेस ये बता देता है कि जनता में फिल्म का क्रेज कैसा है. क्रेज तो शाहरुख की इसी साल आई फिल्म 'पठान' के लिए भी था, लेकिन इस बार थिएटर्स में माहौल बहुत अलग है. थिएटर्स में नाचती, डायलॉग्स पर हूटिंग करती जनता 'जवान' से एक अलग लेवल पर कनेक्ट कर रही है.

शाहरुख की फिल्में तो बहुत आई हैं, लेकिन उनके करियर में इस तरह का 'मास' वाला मोमेंट 'जवान' से आया है. आखिर इस फिल्म में ऐसा क्या है? इस सवाल का जवाब छिपा है, फिल्म की कहानी में. इस जवाब तक पहुंचने में फिल्म की कहानी को ऊपर की चमचमाती परत के नीचे कुरेदना होगा. तो अगर आपने अभी तक 'जवान' नहीं देखी है और फिल्म की कहानी स्पॉइल होने का डर है तो ये आपका स्पॉइलर अलर्ट है. आगे अपने रिस्क पर पढ़ें...

मैसेंजर नहीं अवेंजर! 'जवान' शाहरुख खान को पहली बार इस कदर हिंसक अवतार में लेकर आई है. सिनेमा में सारा खेल इमेज का होता है और 'जवान' के शाहरुख, अबतक के अपने सबसे गुस्से भरे ऑनस्क्रीन अवतार में नजर आते हैं. लेकिन कहानी इसे यूं दिखाती है कि यहां हीरो का एक्शन प्रतिहिंसा है, यानी हिंसा के जवाब में की हुई हिंसा.

मास सिनेमा में रॉ एक्शन होता है. इसमें हीरो अपना फाइटिंग टैलेंट नहीं दिखा रहा, बस खुद पर बीती गलत चीजों का गुस्सा जता रहा है. यहां प्रैक्टिस किए हुए मूव या किसी क्लासिक हथियार से ज्यादा, जो चीज हाथ में आए उसी से दुश्मन को मार डालने वाला गुस्सा नजर आता है. शाहरुख का किरदार विक्रम राठौर 'जवान' में यही कर रहा है. उनका यंग किरदार, आजाद सोशल चेंज का मैसेज देता है और उसके एक्शन में जानलेवा धार नहीं है. मगर फिल्म में एक पॉइंट के बाद आजाद और विक्रम राठौर एक साथ काम करने लगते हैं.

दोनों किरदारों की इमेज का ये खेल कुछ इस सेन्स में चलता है कि सोशल चेंज के लिए हमेशा आंदोलन ही नहीं, गुस्सा भी जाहिर करना पड़ता है. और जब ये इमेज फिल्म के मैसेज के साथ जुड़ती है, तो कहानी मेटा मोमेंट में बदल जाती है. यानी ये बहुत सारी चीजों के प्रति शाहरुख का रियल लाइफ गुस्सा लगने लगता है. क्योंकि शाहरुख लंबे समय से उनकी रियलिटी ऐसी चीजों में उलझी रही है जिनका स्वभाव बहुत पॉलिटिकल है.

'बेटे को हाथ लगाने से पहले बाप से बात कर' 'जवान' के ट्रेलर में जब शाहरुख ये डायलॉग बोलते सुनाई दिए, तो फैन्स क्रेजी हो गए. इसकी वजह उनकी रियल लाइफ के बहुत करीब जो थी. शाहरुख के बेटे आर्यन खान का विवाद में आना कई महीनों तक लगातार चर्चा में रहा. हर किसी के पास इस मामले पर अपनी एक राय थी. लोग इस मामले पर शाहरुख से कम से कम एक लाइन सुनना चाहते थे. लेकिन शाहरुख ने लगातार चुप्पी बनाए रखी.

'जवान' में जब शाहरुख का पिता अवतार (विक्रम राठौर) ये डायलॉग बोलते हुए अपने बेटे आजाद को बचाने आता है, तब थिएटर्स के माहौल में जैसे बिजलियां दौड़ गईं. इसी सीक्वेंस में शाहरुख के किरदार का बिल्ड-अप देते हुए एक सपोर्टिंग किरदार कहता है- 'वो सिम्बा था, ये मुफासा है'.

2019 में हॉलीवुड की एनिमेटेड फिल्म 'द लायन किंग' के हिंदी वर्जन के लिए शाहरुख और आर्यन दोनों ने डबिंग की थी. शाहरुख ने मुफासा के किरदार के लिए और आर्यन ने सिम्बा के किरदार के लिए. इसलिए 'जवान' में बाप-बेटे और मुफासा-सिम्बा का जिक्र, सिनेमा की जुबान में एक 'मेटा-मोमेंट' है. मतलब ऑनस्क्रीन कहानी में, एक्टर की रियल लाइफ की बात. फैन्स 'जवान' के इस पूरे सीक्वेंस को थिएटर्स में खूब चीयर कर रहे हैं.

पॉलिटिक्स पर स्टार्स की चुप्पी और 'जवान' का शोर 'जवान' का हीरो आजाद, लोगों को बन्दूक की नोक पर रखकर, सिस्टम को धमका रहा है कि वो अपनी की गलतियों को सही करे. टेक्निकली तो ये एक किस्म का ब्लैकमेल है, लेकिन 'मास' सिनेमा इस अराजक एक्शन को सही नीयत से जस्टिफाई करता है.

आजाद सबसे पहले एक मेट्रो ट्रेन हाईजैक करता है और लोगों की जान के बदले कृषि मंत्री के जरिए, एक बिजनेसमैन के अकाउंट से बहुत बड़ी रकम डिमांड करता है. इस रकम से वो किसानों के कर्ज माफ करवा देता है. ये पूरी हरकत उसकी गर्ल गैंग में से एक लड़की, कल्कि (लहर खान) के पिता का बदला है. कल्कि के पिता को ट्रेक्टर का कर्ज न चुका पाने पर बनी वालों ने ऐसा जलील किया था कि उसने शर्मसार होकर आत्महत्या का रास्ता चुन लिया.

किसानों के कर्ज और आत्महत्या का मामला पिछले कुछ सालों से लगातार हाईलाइट होता रहता है. लोग कई बार ये गुस्सा जताते रहे हैं कि फिल्म स्टार्स ऐसे रियल मामलों पर कुछ नहीं बोलते, चुप्पी साध लेते हैं. लेकिन शाहरुख इस मुद्दे को सीधा अपनी फिल्म में लेकर आए हैं.

दम तोड़ता मेडिकल सिस्टम अपने दूसरे एक्ट में आजाद, स्वास्थ्य मंत्री को घायल हालत में किडनैप करके मेडिकल घोटाले का पर्दाफाश करता है. ये उसकी साथी ईरम (सान्या मल्होत्रा) का बदला है. ईरम एक लोकल मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर थी और इन्सेफेलाइटिस के प्रकोप के बीच बच्चों को बचाने में लगी थी. लेकिन हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर ही पर्याप्त नहीं थे.

कॉलेज के डीन से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक मेडिकल इक्विपमेंट की खरीद से जुड़े करप्शन में शामिल थे. ईरम अपने स्तर पर ऑक्सीजन सिलेंडर जुगाड़ती लेकिन तबतक देर हो जाती है. जांच में सब मिलकर ईरम को ही लापरवाह साबित करते हैं और बच्चों की मौतों का जिम्मेदार ठहरा देते हैं. इसी सजा ने ईरम को जेल पहुंचा दिया.

'जवान' का ये पूरा सब-प्लॉट आपको उत्तरप्रदेश में एक डॉक्टर के साथ हुई ऐसी ही एक घटना याद दिला सकता है. अभी दो साल पहले ही कोरोना महामारी के दौरान 'ऑक्सीजन सिलिंडर' अरेंज करने में मची अफरातफरी सभी को ताजा-ताजा याद है. 'जवान' का ये हिस्सा आपको रियलिटी के एकदम सामने खडा कर देता है. यहां सिस्टम से आजाद और उसकी टीम की ऑन-स्क्रीन नाराजगी ऐसी फील होती है जैसे शाहरुख रियल लाइफ में आपसे ये बातें कर रहे हैं. यहां शाहरुख की 'मास' फिल्म रियल समस्याओं पर मेटाफर में बात करने लगती है. और इसका फिनाले होता है फिल्म के फाइनल एक्ट में.

सीमा पर 'जवान' खड़ा है, पर बन्दूक में गोली नहीं करप्शन भरा है शाहरुख के बूढ़े किरदार विक्रम राठौर की कहानी फिल्म में बहुत ट्रैजिक है. उसकी टीम बॉर्डर पर दुश्मनों के बीच घिरी है और उनकी बंदूकें ही नहीं चल रहीं. राठौर की चालाकी से मिशन पूरा तो हो जाता है, लेकिन आर्मी से हथियार की डील करने वाले बिजनेसमैन काली का घोटाला सामने आ जाता है. हालांकि, 'सिस्टम' से सांठ-गांठ के जरिए दुनिया का चौथा सबसे बड़ा डीलर बना काली बड़ी चालाकी से राठौर और उसकी पत्नी को ही करप्शन के आरोप में फंसवा देता है. देश के लिए जान दांव पर लगाने को तैयार एक आर्मी ऑफिसर रातोंरात 'देशद्रोही' घोषित कर दिया जाता है.

देश के सैनिकों के हाथ में पहुंचे हथियारों की डील में करप्शन के मामले सुर्खियों में आते रहे हैं. लेकिन पिछले कुछ सालों में सिनेमा ने आर्मी को बड़े पर्दे पर ऐसा ट्रीट किया है, कि सोशल मीडिया पर इन फिल्मों की कहानी में कमी बताने वालों को भी 'देशद्रोही' कह देना आम हो गया. लेकिन 'जवान' का ये प्लॉट अपने आप में एक बहुत ब्रेव अटेम्प्ट है. फिल्म में विक्रम राठौर का डायलॉग, सवाल करने के पीछे का इरादा बिल्कुल साफ़ कर देता है- 'हम जवान हैं, अपनी जान हजार बार दांव पर लगा सकते हैं. लेकिन सिर्फ देश के लिए, तुम्हारे जैसे देश बेचने वालों के लिए नहीं'. ये यकीनन शाहरुख और एटली की तरफ से बहुत बहादुरी भरा अटेम्प्ट है.

पॉलिटिक्स पर सीधा कमेन्ट 'जवान' में सोशल चेंज का अल्टीमेट मैसेज इस नोट पर खत्म होता है कि पॉलिटिक्स को बदलने की जरूरत है. लेकिन इसे डिलीवर यूं किया जाता है कि ये बदलाव नहीं नजर आया और किसी के साथ फिर बुरा हुआ तो कोई न कोई बदला लेने के लिए भी खड़ा हो जाएगा. फिल्म के क्लाइमेक्स का सेटअप ये है कि चुनाव होने वाले हैं और फिल्म का विलेन, एक करप्ट बिजनेसमैन अपने काले-इरादों को कामयाब बनाने के लिए राजनीति में उतरने जा रहा है. उसने अपने इंटरनेशनल क्राइम पार्टनर्स को भरोसा दिला दिया है कि इंडिया में रोजगार और विकास की इतनी जरूरत है कि इसके बदले होने वाले नुक्सान पर कोई सवाल नहीं करता.

आजाद ने चुनाव के लिए निकलीं EVM मशीनें ही कब्जा ली हैं. इस बार उसने फिरौती सीधा देश के नागरिकों से मांगी है. वो टीवी पर आता है, और जनता के नाम एक संदेश पढ़ता है. इस मैसेज की ऑडियंस सिर्फ बड़े परदेपर टीवी देख रहे लोग ही नहीं हैं, थिएटर्स में बैठे दर्शक भी हैं. सिनेमा की डिक्शनरी में इसे फोर्थ-वॉल ब्रेक करना कहते हैं, यानी फिल्म का किरदार स्क्रीन की दीवार तोड़कर, सीधा दर्शकों से बात करने लगता है. इस सीक्वेंस में शाहरुख का मोनोलॉग थिएटर्स में आपका सारा ध्यान कस के पकड़ लेता है और आप सुनते चले जाते हैं. वो कहते हैं कि चुनाव में अपना नेता चुनते वक्त भाषणों से नहीं लॉजिक से काम लीजिए.

यहां एक बात कहना जरूरी है कि 'जवान' नक़ल उतारने, या इनडायरेक्ट रेफरेंस के जरिए किसी भी रियल लाइफ नेता की तरफ बिल्कुल भी इशारा नहीं करती. लेकिन हमारा दौर राजनीति से ऐसा भर चुका है कि फिल्म में एक एक्ट्रेस की बिकिनी का रंग, हफ्तों लोगों की आम बातचीत में बहस का मुद्दा बना. फिल्मों के सीन्स पर रियल लाइफ में एक्टर्स से जवाब मांग लिए जाते हैं. जिंदगियों में इतनी महीन घुल चुकी राजनीति के दौर में शाहरुख का ऐसी कहानी पर्दे पर लेकर आना एक बहुत बहादुरी भरी बात हो जाती है.

ऐसा नहीं है कि शाहरुख की फिल्मों ने कभी पॉलिटिक्स की बात नहीं की. बल्कि मणिरत्नम की 'दिल से' में तो पूरा प्लॉट ही नॉर्थ-ईस्ट की उलझी हुई पॉलिटिक्स पर बेस्ड था. मसालेदार ट्रीटमेंट के साथ आई 'फिर भी दिल है हिंदुस्तानी' के प्लॉट में भी पॉलिटिक्स उड़ता-उड़ता जिक्र था. लेकिन पॉलिटिक्स का जिक्र कर जाना और डायरेक्ट 'पॉलिटिक्स को ही एड्रेस करना' दो अलग बातें हैं. और जब शाहरुख जैसे सुपरस्टार की, मेनस्ट्रीम मसाला एंटरटेनर फिल्म इस तरह की बहादुरी दिखाती है, तो बात ज्यादा लोगों तक पहुंचती है.

'मास सिनेमा' का कहानी में बहुत बड़े मुद्दों को उठाकर, और फिल्मी ट्रीटमेंट दे जाना, एक बड़ी आलोचना का विषय रहा है. लेकिन जब हवा में पॉलिटिक्स घुल जाए तो फिल्म में इसपर बात करना ही एक बहादुरी की बात तो है. देखना ये है कि शाहरुख ने 'जवान' में जो किया है, आगे और भी फिल्में इस तरह की कोशिस कर पाती हैं या नहीं!

Source: AajTak
Related Posts: जवान

Comment on Post

Leave a comment

If you have a News HTS user account, your address will be used to display your profile picture.

POPULAR News

icon
दुनिया भारत को एस-400 एयर डिफेंस सिस्टम की रूस जल्द करेगा डिलीवरी, यूक्रेन युद्ध के कारण देरी होने की थी आशंका
icon
बिज़नेस भारतीय रेलवे ₹21,500 में 11 दिन का टूर पैकेज, पुरी से लेकर अयोध्‍या-काशी तक की करें सैर
icon
वायरल Elvish Yadav के सपोर्ट में उतरीं एक्स गर्लफ्रेंड कीर्ति, अभिषेक मल्हान को बताया इनसिक्योर, सुनाई खरी खोटी
icon
बिज़नेस Gold Price Today: सोना खरीदने से पहले चेक कर लें रेट, आज महंगा हुआ गोल्ड और सिल्वर
icon
खेल IND vs NEP: Shreyas Iyer की जगह होगी SKY की वापसी? नेपाल के खिलाफ इस Playing 11 के साथ उतर सकती है Team India
icon
बिज़नेस मनी भारत में अमेरिका और चीन के बाद सबसे अधिक यूनिकॉर्न, देखें टॉप-5 देशों की लिस्ट
icon
टेक्नोलॉजी Restore Recently Deleted Apps: गलती से कर बैठे Smartphone से काम का ऐप डिलीट, इस ट्रिक की मदद से करें रिस्टोर
icon
राजनीति 'मानसिक दिवालियापन और हिंदूफोबिया को दर्शाती है ए राजा का बयान', धर्मेंद्र प्रधान बोले- सनातन शाश्वत और सत्य
icon
टेक्नोलॉजी 108MP कैमरा और 16GB रैम वाले realme 11 5G की पहली सेल आज, जानें ऑफर डिटेल्स
icon
बिज़नेस भारत को स्थानीय मुद्रा में लोन देने पर विचार कर रहा वर्ल्ड बैंक, कर्ज की लागत कम करने में मिलेगी मदद
icon
वायरल Bigg Boss OTT 2: एल्विश यादव के दोस्तों ने अभिषेक के साथ खेली गंदी राजनीति? वायरल वीडियो में खुली पोलपट्टी
icon
वायरल Alia Bhat का लिपस्टिक लगाना पति को नहीं पसंद, तुरंत हटाने का देते हैं ऑर्डर, लोगों ने रणबीर को बताया टॉक्सिक
icon
वायरल टीवी पति शोएब की वजह से बिखर गईं दीपिका कक्कड़? बेस्टफ्रेंड फलक नाज ही नहीं, सगी....
icon
वायरल Gadar 2 vs OMG 2 Advance Booking: गदर मचाने को तैयार गदर 2, बेचे 2 लाख से ज्यादा टिकट, OMG 2 के लिए बनी चुनौती
icon
वायरल Gangubai Kathiawadi ने 5 कैटेगरी में जीता नेशनल अवॉर्ड, संजय लीला भंसाली बोले- 'गंगू चांद है और चांद रहेगी'
icon
वायरल Gadar 2 Box Office 4th Day: बॉक्स ऑफिस पर 'गदर 2' के तूफान को रोकना हुआ मुश्किल, 200 करोड़ कमाने से बस इतनी दूर
icon
बिज़नेस मनी टेक कंपनियां बनी नौकरियों की काल, ये आंकड़े देखकर कर लेंगे टेक जॉब से तौबा
icon
वायरल Gadar 2 Box Office Collection: 'गदर 2' की बंपर शुरुआत, पहले ही दिन सनी देओल की फिल्म ने छापे इतने करोड़
icon
वायरल बॉलीवुड दमदार रहा Gadar 2 का तीसरा दिन, की बंपर कमाई, 100 करोड़ के पार पहुंचा कलेक्शन
icon
वायरल Jailer Box Office Collection Day 1: रजनीकांत की मूवी ने आते ही जमाई धाक, 'गदर 2' के लिए सेट किया बड़ा बेंचमार्क
icon
दुनिया उत्तर कोरिया का दावा- Travis King के साथ हुआ नस्लीय भेदभाव, समझें क्या है US में अश्वेत सैनिकों की स्थिति
icon
वायरल Esha Deol ने पापा Dharmendra संग अपनी बॉन्डिंग पर तोड़ी चुप्पी, बोली- 'मैं उनको लेकर बहुत पजेसिव हूं'
icon
वायरल OMG 2 Box Office Collection: सनी देओल के आगे फीके पड़े अक्षय कुमार, पहले दिन की शुरुआत महज इतने करोड़ से